हड़प्पा संस्कृति : एक नजर

  • सिंधु घाटी सभ्यता विश्व की प्राचीन नदी घाटी सभ्यताओं में से एक प्रमुख सभ्यता थी।
  • इस सभ्यता की खोज का श्रेय 'रायबहादुर दयाराम साहनी' को जाता है।
सिधु सभ्यता के प्रमुख स्थल एवं उसके खोजकर्ता
प्रमुख स्थल
खोजकर्ता
वर्ष
1- हड़प्पा
  माधो स्वरूप वत्स, दयाराम साहनी
     1921
2- मोहनजोदाड़ो 
  राखाल दास बनर्जी
    1922
3- रोपड़
  यज्ञदत्त शर्मा
    1953
4- कालीबंगा
  ब्रजवासी लाल, अमलानन्द घोष    
    1953
5- लोथल 
  ए. रंगनाथ राव
    1954
6- चन्हूदड़ों  
  एन.गोपाल मजूमदार
    1931
7- सूरकोटदा
  जगपति जोशी
   1964
8- बणावली
  रवीन्द्र सिंह विष्ट
   1973
9- आलमगीरपुर
  यज्ञदत्त शर्मा
  1958
10- रंगपुर
  माधोस्वरूप वत्स, रंगनाथ राव
  1931.-1953
10- कोटदीजी
  फज़ल अहमद
  1953
11- सुत्कागेनडोर
  ऑरेल स्टाइन, जार्ज एफ. डेल्स
  1927

  • इन स्थानों के केवल 6 को ही नगर की संज्ञा दी जाती है। ये हैं -
                  a) हड़प्पा
                  b) मोहनजोदाड़ो
                  c) चन्हूदड़ों
                  d) लोथल
                  e) कालीबंगा
                  f) हिसार
                  g) बणावली
  • सिंधु सभ्यता के सर्वाधिक पश्चिमी पुरास्थल दाश्क नदी के किनारे स्थित सुत्कांगेडोर (ब्लूचिस्तान ) , पूर्वी पुरास्थल हिंडन नदी के किनारे गोदावरी नदी के तट पर आलमगीरपुर ( मेरठ, उ .प्र.), उत्तरी पुरास्थल चिनाव नदी के तट पर अखनूर के निकट मांदा (जम्मू कश्मीर ) तथा दक्षिणी पुरस्थल दाइमाबाद (अहमदनगर , महाराष्ट्र )I
हड़प्पाकालीन नदियों के किनारे बसे नगर
नगर
नदी/सागर तट
1- मोहनजोदाड़ो
सिंधु नदी
2- हड़प्पा
रावी नदी
3- रोपड़
सतलुज नदी
4- कालीबंगा
घग्घर नदी
5- लोथल
भोगवा नदी
6- सुत्कागेनडोर
दाश्त नदी
7- वालाकोट
अरब सागर
8- सोत्काकोह
अरब सागर
9- आलमगीरपुर
हिन्डन नदी
10- रंगपुर
मदर नदी
11- कोटदीजी
सिंधु नदी
स्वतन्त्रता प्राप्ति के बाद हड़प्पा संस्कृति के के स्वरधिक स्थल गुजरात से मिले है I